Free Ganpati Ji Ganesh Nu Manaiye Lyrics in Hindi

Ganpati Ji Ganesh Nu Manaiye Lyrics in Hindi / गणपति जी गणेश नु मनाइए के लिरिक्स हिंदी में   गणपति जी गणेश नु मनाइए के लिरिक्स हिंदी में गणपति जी गणेश नु मनाइए,सारे काम रास होंगे । हर काम नाल पहला ही ध्याइये,सारे काम रास होंगे ।। गणपति जी गणेश नु ध्याइये,सारे काम रास होंगे … Read more

Free गाइए गणपति जगवन्दन के लिरिक्स हिंदी में | Gaiye Ganpati Jagvandan Lyrics in Hindi

गाइए गणपति जगवन्दन के लिरिक्स हिंदी में | Gaiye Ganpati Jagvandan Lyrics in Hindi गाइए गणपति जगवन्दन के अनुवादके लिरिक्स हिंदी में गाइये गणपति जगवंदन।शंकर सुवन भवानी के नंदन॥ सिद्धि सदन गजवदन विनायक।कृपा सिंधु सुंदर सब लायक॥ गाइये गणपति जगवंदन।शंकर सुवन भवानी के नंदन॥ मोदक प्रिय मुद मंगल दाता।विद्या बारिधि बुद्धि विधाता॥ गाइये गणपति जगवंदन।शंकर … Read more

गणपति जी की सेवा मंगल मेवा आरती के गान के बोल हिंदी में । Ganpati Ji Ki Seva Mangal Meva Aarti Lyrics in Hindi PDF

गणपति जी की सेवा मंगल मेवा आरती के गान के बोल हिंदी में । Ganpati Ji Ki Seva Mangal Meva Aarti Lyrics in Hindi PDF गणपति जी की सेवा मंगल मेवा आरती के गान के बोल हिंदी में गणपति की सेवा मंगल मेवा,सेवा से सब विघ्न टरैं।तीन लोक के सकल देवता,द्वार खड़े नित अर्ज करैं॥ … Read more

देवा हो देवा गणपति देवा लिरिक्स in Hindi | Deva Ho Deva Ganpati Deva Lyrics in Hindi

देवा हो देवा गणपति देवा लिरिक्स in Hindi | Deva Ho Deva Ganpati Deva Lyrics in Hindi ​देवा हो देवा, गणपति देवा, तुमसे बढ़कर कौन, स्वामी तुमसे बढ़कर कौन। और तुम्हारे भक्तजनों में, हमसे बढ़कर कौन, हमसे बढ़कर कौन।। अद्भुत रूप ये काया भारी, महिमा बड़ी है दर्शन की, प्रभु महिमा बड़ी है दर्शन की। … Read more

रिद्धि सिद्धि के दाता सुनो गणपति लिरिक्स। Riddhi Siddhi Ke Data Suno Ganpati Lyrics in Hindi

रिद्धि सिद्धि के दाता सुनो गणपति लिरिक्स। Riddhi Siddhi Ke Data Suno Ganpati Lyrics in Hindi रिध्दि सिद्धि के दाता सुनो गणपति,आपकी मेहरबानी हमें चाहिये,पहले सुमिरन करूँ गणपति आपका,लब पे मीठी सी वाणी हमें चाहिये,रिध्दि सिद्धि के दाता सुणो गणपति।। रिध्दि सिद्धि के दाता सुनो गणपति,आपकी मेहरबानी हमें चाहिये,पहले सुमिरन करूँ गणपति आपका,लब पे मीठी … Read more

Ganesh Vandana Lyrics in Hindi PDF – गणेश वंदना के लिरिक्स हिंदी में पीडीएफ़ रूप में।

वीर है गौरा तेरा लाडला गणेश वीर है गौरा तेरा लाडला गणेश माता है तू जिसकी पिता है महेश वीर है गौरा तेरा लाडला गणेश वीर है गौरा तेरा लाडला गणेश वीर है गौरा तेरा लाडला गणेश वीर है गौरा तेरा लाडला गणेश माता है तू जिसकी पिता है महेश वीर है गौरा तेरा लाडला … Read more

Ganesh Kavach in Hindi PDF / गणेश कवच हिंदी में पीडीएफ

एषोति चपलो दैत्यान् बाल्येपि नाशयत्यहो ।अग्रे किं कर्म कर्तेति न जाने मुनिसत्तम ॥ १ ॥ दैत्या नानाविधा दुष्टास्साधु देवद्रुमः खलाः ।अतोस्य कंठे किंचित्त्यं रक्षां संबद्धुमर्हसि ॥ २ ॥ ध्यायेत् सिंहगतं विनायकममुं दिग्बाहु माद्ये युगेत्रेतायां तु मयूर वाहनममुं षड्बाहुकं सिद्धिदम् । ईद्वापरेतु गजाननं युगभुजं रक्तांगरागं विभुम् तुर्येतु द्विभुजं सितांगरुचिरं सर्वार्थदं सर्वदा ॥ ३ ॥ विनायक श्शिखांपातु … Read more

Gajendra Moksha Stotra In Hindi | गजेन्द्र मोक्ष स्तोत्र हिंदी में।

एवं व्यवसितो बुद्ध्या समाधाय मनो ह्रदि ।जजाप परमं जाप्यं प्राक्जन्मन्यनुशिक्षितम् ॥ १ ॥ ॐ नमो भगवते तस्मै यत एतच्चिदात्मकम् ।पुरुषायादिबीजाय परेशायाभीधीमहि ॥ २ ॥ यस्मिन्निदं यतश्चेदं येनेदं य इदं स्वयम् ।योऽस्मात्परस्माच्च परस्तं प्रपद्दे स्वयंभुवम् ॥ ३ ॥ यः स्वात्मनीदं निजमाययार्पितम् ।क्वचिद्विभांतं क्व च तत्तिरोहितम् ।।अविद्धदृक् साक्ष्युभयम तदीक्षते ।।।सआत्ममूलोऽवतु मां परात्पतरः ।। ४ ।। कालेन पंचत्वमितेषु … Read more

Ganpati Stotram in Hindi / गणपति स्तोत्राम् हिंदी में।

ॐ प्रणम्य सिरसा देवं गौरी पुत्रं विनायकम्।भक्तावासं स्मरेन्नित्यं आयुः कामार्थ सिद्धये॥ (1) प्रथमं वक्रतुण्डं च एकदन्तं द्वितीयकम्।तृतीयं कृष्ण पिङ्गाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकम्॥ (2) लम्बोदरं पञ्चमं च षष्ठं विकटमेव च।सप्तमं विघ्नराजं च धूम्रवर्णं तथाष्टकम्॥ (3) नवमं भालचंद्रं च दशमं तु विनायकम्।एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननम्!! (4) द्वादशैतानि नामानि त्रि संध्यं यः पठेन्नरः।न च विघ्न भयं तस्य सर्व … Read more

Ganesh Chalisa lyrics in hindi / गणेश चालीसा के बोल हिंदी में:

॥दोहा॥ जय गणपति सदगुणसदन, कविवर बदन कृपाल।विघ्न हरण मंगल करण, जय जय गिरिजालाल॥ ॥ चौपाई ॥ जय जय जय गणपति गणराजू।मंगल भरण करण शुभ काजू॥ जय गजबदन सदन सुखदाता।विश्व विनायक बुद्घि विधाता॥ वक्र तुण्ड शुचि शुण्ड सुहावन।तिलक त्रिपुण्ड भाल मन भावन॥ राजत मणि मुक्तन उर माला।स्वर्ण मुकुट शिर नयन विशाला॥ पुस्तक पाणि कुठार त्रिशूलं।मोदक भोग … Read more